असफलता के 10 मूल कारण, असफलता से सफलता, असफलता एक चुनौती है

1. हारे हुए लोगों से गलबहियां यानि असफलता से दोस्ती!

हमारे पास पैसे कम ही लोग होते हैं जो हमें मोटिवेट करते हैं और प्रेरणा प्रदान करते हैं अन्यथा अधिकतर ऐसे ही लोग होते हैं जो हमारे सपनों को तोड़ने हमें हतोत्साहित करने और हमारी सफलता पर खुश होने का काम करते हैं और जब हम अपने किसी भी सपने के बारे में उसे शेयर करें तो वह निराशा की बातें करके पलायन वादी मानसिकता को मजबूती देते हैं।
मेरा मानना है कि हम सभी को जितनी जल्दी हो सके ऐसे नकारात्मक व्यक्तियों से अपना पीछा छुड़ाकर ऊर्जावान व्यक्तियों से अपना संवाद बढ़ाना चाहिए। जरूरी नहीं है कि ऐसे ऊर्जावान व्यक्ति हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल हो पर आज के सोशल मीडिया के युग में हम समाज के ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनसे इंटरनेट या सोशल मीडिया पर भी संवाद कायम करके अपने क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं

2. आप कम जिद्दी हैं! सफलता का अर्थ है जिद की पराकाष्ठा:

 

आज के इस कठिन प्रतिस्पर्धा के युग में हमें एक बात के लिए पूरी तरह से तय कर लेना चाहिए कि सफलता औसत परिश्रम से नहीं मिलेगी और इसका सबसे सटीक उदाहरण है कि चूल्हे पर रखी हुई केतली का ढक्कन विभाग की ताकत से तभी ऊपर उठ पाता है जबकि उस को दी गई उर्जा सर डिग्री सेल्सियस तक पहुंचती है आज के तेजी से बदलते युग में सफलता भी पूरी तरह से बायनरी सिस्टम पर कार्य करने लगी है जहां पर सफलता और असफलता के बीच में एक बहुत साफ और स्पष्ट लाइन खींची हुई है इसीलिए जब भी आप अपने जीवन में कोई भी लक्ष्य का निर्धारण करें तो आप इसके लिए परिश्रम की हर कीमत चुकाने के लिए तैयार रहें और हमेशा यह याद रखें कि आपको सफलता तब मिलेगी जब आप दूसरों से थोड़े ज्यादा बेहतर होंगे

3. विनम्रता कि कमी असफलता की नींव है!

विनम्रता का बहुत सीधा सा अर्थ है कि दूसरे की बातों विचारों और अनुभवों को महत्व देना कई बार जीवन में हमारा सीखना तब बंद हो जाता है जबकि हम अपने आप को अल्प ज्ञान के आधार पर ही संपूर्ण मानकर दूसरों से कुछ भी सीखना बंद कर देते हैं। एक बात सदैव याद रखें कि सफलता का आधार सीखना है और मनुष्य जीवन भर सीखता है यही कारण है कि अपने अंदर विनम्रता के स्तर को बढ़ाकर दूसरों को सुनना और समझना शुरू करें किसी के साथ ऐसा हो सकता है कि लोगों के विचार आपके लिए आपकी सफलता को और आसान बना दे और यदि ऐसा नहीं है तो ज्यादा से ज्यादा आपको यह पता चलेगा Kick इस विचार प्रक्रिया से सफलता नहीं मिलेगी और इस तरह से आप अपनी उर्जा को गलत दिशा में लगाने से बच जाएंगे

There are many people out there who accomplish a little bit and decide that they are an expert. Humility is knowing what you don’t know.

4. प्रगाढ़ संबंधों की कमी असफल कि पहचान है!

 आज भी कारपोरेट वर्ल्ड में जॉब 66 प्रतिशत रेफरल के माध्यम से मिलती हैं इसके अलावा ऑनलाइन संसार में भी वर्ल्ड ऑफ माउथ एक नई ताकत बन कर उभरा है।

वर्चुअल यानी सोशल मीडिया यह रेस्पेक्ट बुरे नहीं है बल्कि आप अपनी सफलता के क्षेत्र में ऐसे बहुत सारे लोगों को ढूंढ सकते हैं  जो आपके लिए बेहद सार्थक सिद्ध हो सकते हैं।

 सफलता के लिए सामाजिक संबंध का सिद्धांत बहुत कार्य करता है और इसी कारण कार्यक्षेत्र में अध्ययन क्षेत्र से लेकर सोशल मीडिया के प्लेटफार्म तक अपनी एक ऐसी सामाजिक पहचान बढ़ाइए जिससे कि आपको एक नई पहचान मिले और यह आपकी सफलता में सहायक सिद्ध हो

5. कमियों को न स्वीकारने और बहानेबाजी वाला ही असफल होता है!

 अपनी कमियों को ईमानदारी से स्वीकारने करने वाले व्यक्ति अपने ऐसे बहुत महत्वपूर्ण और शुभचिंतकों को भी धीरे-धीरे खत्म कर लेते हैं जो वास्तव में उनके जीवन में सफलता को और करीब लाने में उनकी मदद कर सकते थे।

जीवन में हमेशा स्वयं को सही साबित ना करें जहां जरूरी हो वहां स्वयं को अच्छा भी साबित करें और इसी के विपरीत जहां आवश्यक हो वहां स्वयं को सही साबित करें यह एक जादू की तरह कार्य करेगा और आप अपनी सफलता के और करीब आ पाएंगे

there’s a feedback loop that must be in place:

try something -> get feedback and results -> learn from feedback and results -> try something new.

6. असफल कि पहचान है भंगुर मन!

Facebook newsfeed, Tweets, Reddits, sub-Reddits, Imgur, check email, Facebook again, back to Imgur, oh a funny comic strip, post on Facebook, check email again, message on Facebook, funny cat pictures, tweet funny cat pictures, look on Reddit for more funny cat pictures, rinse and repeat.

 असफल लोगों की सबसे बड़ी पहचान है उनका भंगुर मन और विकेंद्रित विचार प्रवाह ऐसे लोगों को अपने किसी उद्देश्य के प्रति एकाग्र होने और उस उद्देश्य के लिए कठोर परिश्रम करने में बहुत समस्या आती है क्योंकि वह किसी भी समय पर अपने उद्देश्य के प्रति बड़े-बड़े कमिटमेंट तो कर लेते हैं लेकिन थोड़े ही समय बाद उनका भंगुर मन उनको किन्ही दूसरी चीजों में ढकेल कर ले जाता है।

 आज के समय में मोबाइल इंटरनेट सोशल मीडिया के नोटिफिकेशन भी लोगों के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती बन चुके हैं इंटरनेट का हाइपरलिंक संसार कब आपको बायोलोजी के एनाटॉमी सब्जेक्ट से खींच कर पोर्न वेबसाइटों तक पहुंचा देता है यह वास्तव में आपको भी पता नहीं चल पाता और फिर इस तरह से कब आपका बहुत महत्वपूर्ण समय बर्बाद हो जाता है यह पता नहीं चलता।

वास्तव में आप अपने लिए कुछ छोटे नियम बनाई है अपनी पढ़ाई या नौकरी या किसी भी उद्देश्य की पूर्ति के लिए जो समय निर्धारित किया गया है उस समय का प्रयोग केवल उन विशिष्ट उपकरणों पर लगाइए जहां से आप ज्यादा से ज्यादा रिजल्ट पा सकते हैं

7. असफल केवल सफलता कि जिम्मेदारी लेना चाहता है!

 असफल व्यक्ति केवल सफलता की जिम्मेदारी लेना चाहता है जबकि एक सफल व्यक्ति अपनी असफलताओं की जिम्मेदारियों को स्वीकार करते हुए कब सफलता पा जाता है पता ही नहीं चलता हर असफलता का दोस्त व्यक्ति आसानी से दूसरों पर दूसरी परिस्थितियों पर मर कर अपने आपको तटस्थ कर लेता है इससे वास्तव में केवल आप अपने द्वारा ठगे जाते हैं क्योंकि संसार का हर व्यक्ति आपकी असफलता के लिए केवल आप को जिम्मेदार मानता है और केवल आप ही वह महान व्यक्ति है जो अपनी असफलता के लिए स्वयम को दोषी नहीं ठहरा दे तो कुल मिलाकर यह आपके लिए आत्महंता का कृत्य है|

8. असफल का तकिया कलम, “मुझसे न हो पायेगा”!

जब आपके आसपास के लोग आपको यह फीडबैक देते हैं कि यार तू इंग्लिश नहीं बोल पाएगा या तुझे मैथ्स कभी नहीं आएगी तो इस तरह के फीडबैक लोगों से सुनकर हमारा अवचेतन मन हमारे बारे में वैसी ही धारणा बनाने लगता है जो कि बिल्कुल गलत है अपने अपने बारे में कोई ऐसी धारणा बनाई तो यकीन मानिए आप जंजीरों में जकड़े हुए उस हाथी के बच्चे की तरह है जिसे बाद में बिना जंजीर के भी रखा जाए तो वह कहीं भी भाग नहीं सकता यानी कि आपने दूसरों के द्वारा दिए गए फीडबैक पकड़कर अपनी आत्महत्या कर ली है

9. समर्पण की कमी असफलता कि गारंटी है!

सफलता के लिए जिस चीज की सबसे ज्यादा जरूरत है वह है समर्पण । परंतु दुर्भाग्य से जो असफल लोग होते हैं वह हमेशा अगले दिन की सुबह से अपने आप को समर्पित करने का वादा करके सोते हैं और उनके हाथ कुछ नहीं आता।

यदि आप सफलता चाहते हैं तो उसके आप को उस कार्य के लिए समर्पित होना पड़ेगा किसी एक उद्देश्य की प्राप्ति के लिए केवल उस उद्देश्य की दिशा में आगे बढ़ने की जरूरत है और अपनी पूरी ऊर्जा को हर दिशाओं में खर्च ना करके उसे एक उद्देश्य की पूर्ति में लगाया जाए तो चमत्कारी परिणाम आएंगे

10. असफल ज्यादा सपने देखते हैं!

सफल व्यक्ति योजनाएं बनाने में कम और बनी हुई योजनाओं पर अमल करने में ज्यादा समय लगाता है जबकि इसके उलट एक असफल व्यक्ति योजनाएं बनाने में तो खूब समय लगाता है परंतु उन पर अमल करने मेवा पूरी तरह से फेल हो जाता है।

किसी भी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए जो भी योजना बनाते हैं वह किसी कॉपी के पिछले पन्ने पर खोला जाए इसके लिए आप हर तरह से लोगों से बातचीत करें राय लें एक्सपर्ट्स की राय लें इसके अलावा तमाम जानकारियां जुटाएं और थोड़ा समय लेकर अपनी कार्य योजना को पक्का करें और जब यह कार्य योजना पक्की हो जाए तो उसमें बार बार परिवर्तन ना करके कठोरता से उसका पालन करें

 

Facebook Comments
Share Button
You may also like ...

Shivesh Pratap

My articles are the chronicles of my experiences - mostly gleaned from real life encounters. With a first-rate Biz-Tech background, I love to pen down on innovation, public influences, gadgets, motivational and life related issues. Demystifying Sci-tech stories are my forte but that has not restricted me from writing on diverse subjects such as cultures, ideas, thoughts, societies and so on.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is the copyright of Shivesh Pratap.