ANT+ प्रोटोकॉल क्या होता है ?

ANT, फिक्स्ड और मोबाइल उपकरणों से कम दूरी पर डेटा का आदान प्रदान, निजी क्षेत्र में नेटवर्क बनाने के लिए एक वायरलेस (बेतार) प्रोटोकॉल है। ANT एक अति अल्प शक्ति का प्रोटोकॉल है और बहुत कम क्षमता के छोटे बैटरी सेल से संचालित करने में सक्षम है।

ANT उपकरण आम तौर पर प्रसारण मोड में कार्य करता है तथा एक साथ कई उपकरणों से संपर्क या प्रसारण कर सकता है |

ANT+, एक संवर्धित उपकरण प्रोफाइल है जो कि डेटा स्वरूप, चैनल मानकों और नेटवर्क कुंजियों को परिभाषित करता है। इसका “प्रोफाइल” एक विशिष्ट उपयोग के मामले में सूचनाएं या डेटा सेट को परिभाषित करता है। सबसे आम ANT+ प्रोफ़ाइल ह्रदय गति मापक है | और आज बाजार में कई ह्रदय मापक उपकरणों का प्रयोग किया जाता है।

Introduction_to_ANT_Message_doc

ANT+ प्रोफाइल के अन्य उदाहरण में शामिल हैं:

  • साइकिल की गति और ताल (Speed & Cadence)
  • साइकिल पावर (PWR)
  • गतिविधि (ACT)
  • वजन स्केल (WGT)
  • रक्तचाप (बीपी)

*****

ANT is a wireless protocol for exchanging data over short distances from fixed and mobile devices, creating personal area networks. ANT is an ultra low power protocol that is able to operate off of small batteries, such as coin cells.

ANT peripherals typically operate in a broadcast mode that can be received from multiple handsets or displays simultaneously.

ANT+ (built on the base ANT protocol) defines standardized device profiles that specify data formats, channel parameters and network keys. A “profile” defines a specific use case, or data set. The most common ANT+ profile is heart rate (HR), and is used by many heart rate monitors in the market today.

Other examples of ANT+ profiles include:

  • Bicycle Speed & Cadence (S&C)
  • Bicycle Power (PWR)
  • Activity (ACT)
  • Weight Scale (WGT)
  • Blood Pressure (BP)
Facebook Comments
Share Button
You may also like ...

Shivesh Pratap

My articles are the chronicles of my experiences - mostly gleaned from real life encounters. With a first-rate Biz-Tech background, I love to pen down on innovation, public influences, gadgets, motivational and life related issues. Demystifying Sci-tech stories are my forte but that has not restricted me from writing on diverse subjects such as cultures, ideas, thoughts, societies and so on.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is the copyright of Shivesh Pratap.