नारियल का परिचय, उपयोग एवं लाभ | Coconut Information, Uses & Benefits in Hindi

नारियल का परिचय, उपयोग एवं लाभ
Coconut Information, Uses & Benefits in Hindi

वानस्पतिक नाम: Cocos nucifera

संस्कृत नाम: नारिकेल

नारियल में पौष्टिक तत्व: प्रोटीन की 4.5 %,  तेल 41.6 %, कार्बोज 13 %, रेशा 3.6 %, फास्फोरस .24 ग्राम, विटामिन ‘ सी ‘ 1 मिग्रा.|

नारियल का परिचय:

नारिकेल एक बहुवर्षी एवं एकबीजपत्री पौधा है।

नारियल का पेड़ बहुत ऊँचा और सीधा होता है. इसकी ऊंचाई 80 फुट या इससे भी अधिक होती है|

इसके पत्ते 6 से 18 फीट लम्बे, नोकदार एवं कम चौड़े होते हैं|

इसके पत्तों से 4 से 6 फीट लम्बा नारंगी या तृण वर्ण का कोशावृत पुष्प – यूह निकलता है

ये वृक्ष समुद्र के किनारे या नमकीन जगह पर पाये जाते हैं।

इसका फल अंडे के आकार का होता है

आयुर्वेदानुसार नारियल को शुभ का माना गया है नारियल एक ऐसा प्रसिद्ध और लोकप्रिय फल है जिसे पूजा पाठ में चढ़ाया जाता है वेदानुसार नारियल के वृक्ष को कल्पवृक्ष माना गया है|’

नारियल को श्रीफल भी कहा जाता है।

Coconut के वृक्ष भारत में प्रमुख रूप से केरल, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में खूब उगते हैं। महाराष्ट्र में मुंबई तथा तटीय क्षेत्रों व गोआ में भी इसकी उपज होती है।

नारियल में विटामिन, पोटैशियम, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन और खनिज तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

नारियल का उपयोग एवं लाभ: 

नकसीर की समस्या:

नाक से खून निकलने पर कच्चे नारियल का पानी का सेवन नियमित रूप से करना फायदेमंद होता है। अगर खाली पेट नारियल का सेवन किया जाए तो खून का बहाव बंद हो जाता है।

Coconut खाने से याद्दाश्त में वृद्धि:

नारियल की गरी में बादाम, अखरोट एवं मिश्री मिलाकर हर रोज खाने से स्मृति में बढ़ती है। बच्चों को नारियल खिलाना चाहिए, इससे बच्चों का दिमागी विकास होता है।

पेट में कीड़े नही होते:

पेट में कीड़े होने पर सुबह नाश्ते के समय एक चम्मच पिसा हुआ नारियल का सेवन करने से पेट के कीड़े बहुत जल्दी मर जाते हैं।

बालों में रूसी की समस्या में लाभ:

बालों में रूसी की समस्या के लिए नारियल का तेल बहुत फायदेमंद है। नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर बालों में लगाने से रूसी एवं खुश्की से छुटकारा मिलता है।

सिरदर्द में लाभ: 

नारियल तेल में बादाम को मिलाकर तथा बारीक पीसकर सिर पर लेप लगाना चाहिए। इससे सिरदर्द में तुरंत आराम होता है।

नींद न आने की समस्या में लाभ: 

नियमित रूप से रात के खाने के बाद आधा गिलास नारियल का पानी पीना चाहिए। इससे नींद न आने की समस्या खतम होती है और नींद अच्छी आती है।

मोटापा कम करने में लाभ:

नारियल में कॉलेस्ट्रॉल और वसा नहीं होता है। इसलिए नारियल का सेवन करके वजन को घटाया जा सकता है।

मुहांसों की समस्या में लाभ:

#नारियल के पानी में खीरे का रस मिलाकर सुबह-शाम नियमित रूप से लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे मिटते हैं और चेहरा सुंदर एवं चमकदार होता है। नारियल के तेल में नींबू का रस अथवा ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर लेप करने से भी मुहांसे समाप्त होते हैं।

नारियल के औषधीय गुण:

Coconut क्रोहन्स डिजीज के इलाज के लिए एक रामबाण औषधि है। इस बीमारी में रोगी की आँतों में जलन, डायरिया, मल में रक्त आना, वजन कम होना आदि लक्षण होते हैं।

वैज्ञानिकों के अनुसार क्रोहन्स डिजीज के उपचार में प्रयोग किए जाने वाले कॉर्टिकोस्टेराइड्स के समकक्ष नारियल में फाइटोस्टेराल्स नामक समूह तत्व होता है जो क्रोहन्स डिजीज में मुकाबला करता है।

हैजे में यदि उल्टियाँ बंद न हो पा रही हों तो रोगी को तुरंत नारियल पानी पिलाना चाहिए। इससे उल्टियाँ बंद हो जाती है|

स्वस्थ सुंदर संतान प्राप्ति के लिए गर्भवती महिला को 3-4 टुकड़े नारियल प्रतिदिन चबा-चबाकर खाने चाहिए।

पित्तजन्य विकारों के निदान में नारियल विशेष रूप से लाभकारी है। इसके लिए कच्चे नारियल की गिरी, रस तथा सफेद चंदन का बुरादा मिला लें। इस मिश्रण की 10 ग्राम मात्रा को रात को पानी में भिगो दें। सुबह छानकर इसे खाली पेट पिएँ।

चोट-मोच की पीड़ा तथा सूजन दूर करने के लिए नारियल का बुरादा बनाकर उसमें हल्दी मिलाकर प्रभावित स्थान पर पट्टी बाँधें और सेंकें। विभिन्न त्वचा रोगों जैसे खाज-खुजली में नारियल के तेल में नीबू का रस और कपूर मिलाकर प्रभावित स्थान पर लगाने से लाभ मिलता है।

 

Facebook Comments
Share Button
You may also like ...

Shweta Pratap

I am a defense geek

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is the copyright of Shivesh Pratap.