अल्बानिया के 100 रोचक तथ्य | 100 Interesting facts About Albania in Hindi

अल्बानिया के 100 रोचक तथ्य
100 Interesting facts About Albania in Hindi

स्वतंत्रा ऑटोमन साम्राज्य से: 28 नवंबर 1912, 1998

अल्बानिया का राजधानी: तिराना

 सबसे बडा़ नगर: तिराना

राजभाषा: अल्बानियाई

अल्बानिया गणराज्य का ध्वज:

क्षेत्रीय रूप से मान्यता प्राप्त भाषाएँ: यूनानी, मैसिडोनियाई और अन्य भाषाएँ

निवासी: अल्बानियाई

सरकार: संसदीय लोकतन्त्र

क्षेत्रफल: 28 748 वर्ग किलोमीटर (139 वां)

  • अल्बानिया गणराज्य  उत्तरपूर्वी यूरोप में स्थित एक देश है।
  • अल्बानिया एक संसदीय लोकतंत्र और अवस्थांतर अर्थव्यवस्था है।
  • Albania की राजधानी तिराना लगभग 8,95 000 निवासियों वाला नगर है जो देश की 36 लाख की जनसंख्या का चौथाई भाग है| और यह नगर अल्बानिया का वित्तीय केन्द्र भी है।

  • इस देश के लोग मरे हुए पशुओ को अपने घरो पर टांगते है, माना जाता है की ऐसा करने से दुष्ट आत्माए घर में प्रवेश नही करती।
  • अल्बानिया (Albania) एक ऐसा देश है जिसमें अगर आप सिर हिला के हां कहते हैं तो उसका मतलब न होगा अगर न कहते है तो हां होगा|
  • #अल्बानिया संयुक्त राष्ट्र, नाटो, यूरोपीय सुरक्षा और सहयोग संगठन, यूरोपीय परिषद, विश्व व्यापार संगठन, इस्लामिक सम्मेलन संगठन इत्यादि का सदस्य है |

  • अल्बानिया, पूर्वी यूरोपीय मानकों के आधार पर एक निर्धन देश है।
  • अल्बानिया का क्षेत्रफल 28 748 वर्ग किलोमीटर है। इसकी तटरेखा 362 किलोमीटर लंबी है और एड्रियाटिक और आयोनियन सागरों साथ लगती हुई है।
  • पश्चिम की निम्नभूमि एड्रियाटिक सागर की ओर मुखातिब है। देश का 70% भूपरिदृश्य पर्वतीय है और बाहर से अभिगमन प्रायः दुर्गम है।
  • सबसे ऊँचा पर्वत कोराब पर्वत, दिब्रा जिले में स्थित है और 2753 मीटर (9030फुट) ऊँचा है।
  • अल्बानिया एक सजातीय देश है| जिसमे 94% अल्बानियाई, 2% यूनानी, 3%आर्मेनियाई, 1% जिप्सी, सर्ब और मैसिडोनियाई है |

  • 1999 में पडोसी कोसोवो में युद्ध होने के कारण 4,80,000 जातीय अल्बेनियन् शरणार्थी अल्बानिया में वापिस चले आये थे।
  • अल्बानिया की अर्थव्यवस्था उच्च-मध्यम आय वाली है। देश की ज्यादातर आय सर्विस सेक्टर पर ही निर्भर करती है, साथ ही देश की अर्थव्यवस्था औद्योगिक और कृषि सेक्टर पर भी निर्भर है।
  • अल्बानिया के लोगो ने अल्बानिया को “Shqiperi” नाम दिया है।
  • #अल्बानियाई लोगो का राष्ट्रिय और जातीय चिन्ह ईगल है। 1190 में इस चिन्ह को पत्थर किओ नक्काशी में बनाया गया था।

  • अल्बानिया का वर्तमान राष्ट्रिय ध्वज लाल रंग के बैकग्राउंड पर 2 सिर वाला ईगल बना हुआ है।
  • लज़रत ग्राम अल्बानिया की भांग राजधानी है। यह ग्राम देश को यूरोप में भांग का निर्यात करने वाला सबसे बड़ा देश बनाता है।
  • आपको इस बात को जानकर आश्चर्य होंगा की अल्बानिया में स्पीडबोट का उपयोग करने वर्जित है। क्योकि अल्बानिया में स्पीडबोट का उपयोग मानव और ड्रग्स की तस्करी इटली और ग्रीस के समुद्री तटो पर करने के लिए किया जाता है।
  • Aediaei उस शक्तिशाली जनजाति का नाम है जो एक समय में वर्तमान अल्बानिया पर शासन करती थी।

  • इस बात को जानकर आपको हैरानी होंगी की 1991 से पहले अल्बानिया की कुल जनसँख्या के पास केवल 3000 कारे ही थी। उस समय साम्यवादी शासन ने प्राइवेट कार को अवैध घोषित किया था।
  • कहा जाता है की अल्बानिया के पुलिस बहुत भ्रष्ट है। इस बात की पुष्टि के लिये हम अल्बानिया में आसानी से रोड किनारे खड़े पुलिस को हमेशा फाइन लेते हुए देख सकते है।
  • अल्बानियाई लोग ड्राइविंग करते समय अपनी सुरक्षा को लेकर ज्यादा जागरूक नही होते है। उन्हें सीट बेल्ट पहनना भी पसंद नही।
  • 1967 में अल्बानिया दुनिया का पहला नास्तिक देश बना। यह सब इनवर होक्स्हा के नेतृत्व में हुआ था।

  • कन्या भ्रूण हत्या अल्बानिया में एक सामान्य बात है। दुनिया में ऐसे केवल दो देशो में से अल्बानिया एक है।
  • दुसरे यूरोपियन राजधानी शहरो की तरह ही अल्बानिया की राजधानी तिराना में भी मैकडोनाल्ड रेस्टोरेंट नही है।
  • #अल्बानिया में ज्यादातर लोग शाम में टहलना पसंद करते है। बल्कि कुछ शहरो में तो स्थानिक लोगो की सुरक्षा के लिए बहुत से रास्तो को बंद भी किया जाता है|
  • अल्बानिया में ‘हाँ’ कहने के लिए ‘पो’ और ‘ना’ कहने के लिए ‘जो’ शब्द का उपयोग किया जाता है।

  • अल्बानिया के अंतर्राष्ट्रीय एअरपोर्ट नेने तेरेज़ा का नाम मदर टेरेसा की तर्ज पर रखा गया है।
  • यहाँ के बेरात शहर में एक महल है, स्थानिक लोग इसे काला के नाम से जानते है, जिसका निर्माण 13 वी शताब्दी में किया गया था।

 

Facebook Comments
Share Button
You may also like ...

Shweta Pratap

I am a defense geek

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is the copyright of Shivesh Pratap.