नोटबंदी के 10 फायदे जिससे देश बनेगा महाशक्ति | 10 Benefits of Demonetization in Hindi

500 और 1000 के चलन वाले नोट अब इतिहास हो गए हैं। पूरा देश पुराने नोटो को ‘महात्मा गांधी न्यू सीरीज ऑफ नोट्स 2016’ से बदलने के लिए कतार में लगा है। आम जनता का एक बड़ा तबका करेंसी बैन #CurrencyBan से उत्साहित है और इस कदम का स्वागत करता दिखाई देता है।

सवाल है कि ऐसा क्यों? दरअसल, ज्यादातर लोगों का मानना है कि मोदी सरकार के इस कदम से फिलहाल जरूर वो दिक्कत झेल रहे हैं लेकिन इस कदम से जिन बड़े उद्देश्यों की पूर्ति का लक्ष्य रखा गया है, वो अगर सफल होते हैं तो इससे देश और देश के नागरिकों की बड़ी मुश्किलें आसान हो सकती हैं।

Demonetization in Hindi:

Demonetization की हिंदी है विमुद्रीकरण|कानूनी रूप में किसी मुद्रा इकाई की स्थिति/मूल्य को अमान्य कर देना ही Demonetization यानि विमुद्रीकरण है। मोटे तौर पर यह राष्ट्रीय मुद्रा में एक प्रकार का परिवर्तन है | जब भ्रस्टाचार बढ़ जाता है और लोग नोटों को बैंकों से दूर जमाखोरी करते हैं तो Demonetization आवश्यक हो जाता है। इससे मुद्रा के पुराने इकाई को सेवानिवृत्त कर एक नई मुद्रा इकाई के साथ प्रतिस्थापित किया जाता है जो पुनः बैंकिंग प्रक्रिया में शामिल होकर सरकार को टैक्स के रूप में सहायक होती हैं और बैंकों के पास निवेश की क्षमता आ जाती है। इस तरह यह देश की अर्थव्यवस्था में एक प्राणवायु फूकने का काम करती है |

नोटबंदी के 10 फायदे जिससे देश बनेगा महाशक्ति | 10 Benefits of Demonetization in Hindi:

1- भारत देश की अर्थव्यवस्था पर प्रभाव:

देश के आर्थिक विकास की रफ्तार और तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। 500-1000 के नोटों पर पाबंदी के बाद करेंसी अर्थव्यस्था की कमियों (काला धन, नकली नोट और छद्म बैंकिंग आदि) को भरेंगे, जिससे देश की अर्थव्यस्था में नई जान आएगी। उसे और मजबूत मिलेगी। 2015 में वर्ल्ड बैंक के आंकड़ों के मुताबिक दक्षिण एशिया में भारत की विकास दर सबसे ज्यादा रही। 2015 में भारत 7.57 फीसदी, बांग्लादेश 6.55 फीसदी, पाकिस्तान 5.54 फीसदी, श्रीलंका 4.79 फीसदी, नेपाल 3.36 फीसदी, भूटान 3.25 फीसदी, अफगानिस्तान 1.52 फीसदी और मालदीव का 1.51 फीसदी सकल घरेलू उत्पाद रहा था।

2- राजनीति और चुनाव प्रक्रिया बनेगी पारदर्शी:

ये अघोषित सच्चाई है कि चुनाव में बड़े पैमाने पर ब्‍लैक मनी खर्च की जाती है। चाहे टिकट खरीदने की बात हो, मतदाताओं की बांटने की बात हो या फिर प्रचार व अन्‍य लेनदेन। ये फैसला तब आया है जब एक साल के भीतर ही यूपी, पंजाब, गुजरात, गोवा, उत्तराखंड जैसे राज्‍यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे नेता जिन्होंने इन चुनावों के लिए ब्लैकमनी जमा किया होगा वो उसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। ऐसे में चुनाव अपेक्षाकृत ज्यादा स्वच्छ होंगे।

3-सस्ते होंगे रियल एस्टेट उद्योग:

500-1000 पर पाबंदी से रियल एस्‍टेट पर सबसे बुरा प्रभाव पड़ने की आशंका है। पिछले दो-ढाई साल में ब्लैक मनी पर जो चोट हुई है उससे ये सेक्टर पहले से ही सदमे में है। रियल एस्टेट में पिछले दो-ढाई साल से रेट तकरीबन ज्यों के त्यों है। माना जाता है कि सबसे ज्यादा ब्लैक मनी इसी सेक्टर पर खपाई जाती है। नोटबंदी के बाद माना जा रहा है कि बैंक की दरें घटेंगी जबकि फ्लैट की कीमतें नीचे आएंगी यानी अपने घर का सपना देखने वाले लोगों के वाकई अच्छे दिन आ सकते हैं।

4-कृत्रिम अमीरी पर नकेल कसेगी:

2014 में सरकार बनते ही पीएम मोदी ने संकेत दे दिया था कि काला धन रखने वालों के अच्छे दिन अब खत्म होने वाले हैं। ब्लैक मनी पर लगाम लगने के लिए स्विट्जरलैंड, मॉरीशस जैसे देशों से अहम समझौते किए गए। 500-1000 के नोटों पर पाबंदी लगने से देश में कैश के रूप में जमा काला धन कागज के टुकड़ों के समान हो गया है। यही वजह है कि कहीं नदी में पैसे मिल रहे हैं तो कहीं जलाए जा रहे हैं।

5नकली नोट बंद होंगे:

नोट बदलने का सबसे बड़ा मकसद नकली नोटों की समस्या पर लगाम लगाना बताया जा रहा है और विरोधी पार्टियों के नेता भी कम से कम इतना मान रहे हैं कि नकली नोट की समस्या से इस कदम से निपटा जा सकता है क्योंकि नए नोटों की सीरीज में सिक्योरिटी फीचर ज्यादा हैं जिनकी कॉपी करना पाक या किसी भी दूसरे देश के लिए बेहद मुश्किल होगा।

6-इस्लामिक आतंकवाद से मिलेगा छुटकारा:

500-100 के नोटों पर पाबंदी से आतंकवाद के वित्तीय स्त्रोत पर भी चोट लगेगी। नकली नोट रद्दी हो गए, अवैध रूप से जमा कैश बेकार हो गया। आतंकी संगठनों में अवैध रूप से प्रयुक्त हो रही भारतीय मुद्रा पर लगाम लगेगी। पाक से नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते भारत आ रहे नकली नोटों का प्रयोग ही देश विरोधी गतिविधियों में किया जाता है। इसलिए नए नोट आतंकवाद पर भी लगाम लगाएंगे।

7हवाला कारोबार:

जब से नए नोट बंद हुए हैं, हवाला कारोबार ठप पड़ गया है क्योंकि ये पूरा कारोबार कैश में ही होता है। देश के एक हिस्से से दूसरे हिस्से ये कैश हवाला के जरिए ही पहुंचाया जाता है। इसमें टैक्स की भी चोरी होती है और पहले से ज्यादा ब्लैक मनी जेनरेट होती है।  नोटबंदी से इस अवैध कारोबार पर भी लगाम लगेगी।

8शैडो बैंकिंग:

500-1000 के पुराने नोटों पर पाबंदी लगने से शैडो बैंकिंग बंद होगी। इससे सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि अर्थव्यवस्था में वित्तीय स्थिरता को खतरा कम होगा। शैडो बैंकिंग का मतलब है बैंक जैसी गतिविधियां करना। इन पर बैंकिंग जैसी कोई कानूनी बाध्यता नहीं होती और ना ही कोई मजबूत कानून का शिकंजा ही होता है। बैंकिंग सिस्टम के बाहर जो लोग या संस्थान वित्तीय लेन-देन करते हैं उन्हें शैडो बैंकिंग की श्रेणी में रखा जाता है।

9-आम जनता की EMI कम :

बैंकों के पास जिस तरह से पैसा जमा हो रहा है उससे उनके पैस कैश बढ़ेगा। इससे वे जरूरतमंद लोगों को आसानी से लोन दे सकेंगे। खुद बैंकों की ओर से कहा जा रहा है कि इससे ब्याज दरें सस्ती हो सकती हैं। यानी सस्ते लोन से घर, गाड़ी या अन्य चीजें खरीदना सस्ता पड़ेगा और ईएमआई का बोझ कम होगा।

*********************

यह भी पढ़ें और जानें:

Negative Impact of Demonetization in India | नोटबंदी विमुद्रीकरण से नुकसान

*********************

10-बैंक शक्तिशाली बनेंगे तो इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत होगा:

भारतीय बैंकों के नॉन परफोर्मिंग एसेट्स यानि NPA विश्व के अच्छे देशों की अपेक्षा बहुत उच्च स्तर पर हैं | इसका मतलब है की जो पैसा बैंकों से जनता में आता है उसका चक्रण होकर पुनः वह बैंकों तक नहीं पहुँचता | नोट बंदी से पुराने छुपा कर रखे गए नोट रद्दी होंगे और उसी मूल्य के नए नोटों को छाप कर रिज़र्व बैंक पुनः बैंकों को मालामाल करेगा जिससे की NPA सूचकांक नीचे आएगा |

इस तरह बैंकों के पास इन्फ्रा के विकास हेतु निवेश की अधिक क्षमता होगी और जनता को ज्यादा पैसा कम व्याज पर मिलेगा और लोगों को स्वरोजगार यानि entrepreneur के अवसर मिलेंगे |

Facebook Comments
Share Button

Shivesh Pratap

My articles are the chronicles of my experiences - mostly gleaned from real life encounters. With a first-rate Biz-Tech background, I love to pen down on innovation, public influences, gadgets, motivational and life related issues. Demystifying Sci-tech stories are my forte but that has not restricted me from writing on diverse subjects such as cultures, ideas, thoughts, societies and so on.....

18 thoughts on “नोटबंदी के 10 फायदे जिससे देश बनेगा महाशक्ति | 10 Benefits of Demonetization in Hindi

  • November 22, 2016 at 7:19 pm
    Permalink

    अच्छा विवरण है- non finance व्यक्ति को भी समझ में आएगा.
    धन्यवाद
    वीरेन्द्र

  • November 24, 2016 at 6:46 am
    Permalink

    Har Har modi…..
    Namo Namo……

  • November 24, 2016 at 6:48 am
    Permalink

    published i hve not any problem

  • November 24, 2016 at 10:59 am
    Permalink

    Thanks to praise this article. Keep yourself update with this website.

  • November 24, 2016 at 11:02 am
    Permalink

    लेख को पसंद करने तथा उत्साहवर्धन करने हेतु धन्यवाद !!! कृपया अपने सुझाव अवस्य दिया करें और हमारे फेसबुक पेज से भी जुड़ें |

  • December 15, 2016 at 4:58 am
    Permalink

    very good but I want know about the loss of demonetisation

  • December 25, 2016 at 1:22 pm
    Permalink

    Modi sir d day u announced demonetisation I was quite happy but after seeing the problems of the poor nd middle class people I do not appreciate ur decision. I agree that u have captured a lot of black money from some corrupt persons but that to the money is in the new currency. Ur getting of those money is of no use unless u get to the root of the problem that how come these people have changed such a big amount into new currency. Nd one more thing Mr modi plz do something for the country nd give speeches on ur achievements nd not on other people’s failure. We all know that u r totally against Congress but plz speak with proofs nd not in air. First get some Congress people with black money nd then we’ll see decide which party is corrupt 😉

  • December 26, 2016 at 6:39 pm
    Permalink

    It. Is. So…. good. Modi ji..

  • December 27, 2016 at 5:52 pm
    Permalink

    It’ not good modi ji

  • January 3, 2017 at 11:12 am
    Permalink

    Modi sir apne ye jo kiya h na asa krna kisi ne krna to chodo socha bhi ni hoga i kw thdi prblms aai h bt dkha jaye to poor people ko ksi prblm, prblm to unhe honi chahiye na jinke ps bht sara paisa h ha vo bt alg h ki vo apna km midl cls ya poor prsns se krva ri h to isme un logo ki glti h na jo ye kr rhe h apki to koi glti ni h na sir apne bht hi fntstic km kiya h n i kw is br apko full yng gnrtn vote degi n m bhi is br vote dungi jo ki sirf or sirf apki h 😋😋

  • January 3, 2017 at 11:14 am
    Permalink

    Modi sir apne ye jo kiya h na asa krna kisi ne krna to chodo socha bhi ni hoga i kw thdi prblms aai h bt dkha jaye to poor people ko ksi prblm, prblm to unhe honi chahiye na jinke ps bht sara paisa h ha vo bt alg h ki vo apna km midl cls ya poor prsns se krva ri h to isme un logo ki glti h na jo ye kr rhe h apki to koi glti ni h na sir apne bht hi fntstic km kiya h n i kw is br apko full yng gnrtn vote degi n m bhi is br vote dungi jo ki sirf or sirf apki h 😋😋

  • January 5, 2017 at 8:43 pm
    Permalink

    Yes it is a very good step by our government… It will prove beneficial in future..

  • January 6, 2017 at 8:07 pm
    Permalink

    Its good idea modi ji

  • January 10, 2017 at 9:16 pm
    Permalink

    This is best step for development I am with you modi ji

  • January 13, 2017 at 2:08 pm
    Permalink

    ye idia hai dosti .. pl dont question on ability of common indian —iska bhi tod nikal hi dalenge ……..ye to wakt bataega,,,,,,,,,,,,,,,

  • January 13, 2017 at 8:49 pm
    Permalink

    Yes a best advice

  • January 15, 2017 at 6:20 pm
    Permalink

    such much modi ji me bohot acha km kiya h Jo log modi ji Ke khilaf bol rage hai samajh lo WO sabhi log corrupted hai I support to modi ji ha mana ki me abhi vote nahi de sakti par jab me vote dene Ke kayak ho jaongi tab me surf air surf modi ji ko vote dungi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is the copyright of Shivesh Pratap.